‘बच्चों के सीखने और साझा करने के लिए 100 स्वास्थ्य संदेश’ 8-14 वर्ष की आयु के बच्चों के लिए सरल, विश्वसनीय स्वास्थ्य शिक्षा संदेश हैं । इसलिए इसमें 10-14 साल के युवा किशोर शामिल हैं। हमें लगता है कि 10-14 वर्ष के युवा किशोरों को निश्चित रूप से सूचित किया जाना विशेषत: उपयोगी और महत्वपूर्ण है क्योंकि यह आयु समूह अक्सर अपने परिवार में छोटे बच्चों की देखभाल करता है। साथ ही अपने परिवार की इस तरह सहायता करने के लिए वे जो काम कर रहे हैं उसे मान्यता देना और उसकी प्रशंसा करना महत्वपूर्ण है।

इन 100 संदेशों में 10 प्रमुख स्वास्थ्य विषयों में से प्रत्येक पर 10 संदेश हैं: मलेरिया, अतिसार (डायरिया, दस्त), पोषण, खाँसी-ज़ुकाम और बीमारी, आँत के कीड़े, जल और स्वच्छता, टीकाकरण, एचआईवी और एड्स, दुर्घटनाएँ और चोट, तथा प्रारंभिक शैशव विकास। ये सरल स्वास्थ्य संदेश माता-पिता और स्वास्थ्य शिक्षकों के लिए घर, स्कूलों, क्लबों और क्लिनिकों में बच्चों के साथ उपयोग करने के लिए हैं।

विषय संख्या 6 पर 10 संदेश यहाँ दिए गए हैं: जल और स्वच्छता

  1. अच्छी तरह हाथ धोने के लिए पानी और थोड़ा सा साबुन इस्तेमाल करें। 10 सेकंड के लिए रगड़ें, फिर साबुन धोएँ और हवा में या साफ़ कपड़े/कागज़ पर हाथ सुखाएँ, गंदे कपड़ों पर नहीं।
  2. अपने चेहरे पर टी-ज़ोन (आँखें, नाक और मुंह) को छूने से पहले अपने हाथ अच्छी तरह धोएँ, क्योंकि यहीं से रोगाणु शरीर में प्रवेश करते हैं। जहाँ तक संभव हो टी-ज़ोन को छूने से बचें।
  3. खाना बनाने, खाने या शिशुओं को खिलाने से पहले और पेशाब या शौच करने, शिशु को साफ़ करने या किसी बीमार की मदद करने के बाद अपने हाथ धोएँ।
  4. अपना शरीर एवं कपड़े ताज़ा और साफ रखें। अपने नाख़ून और पैर की उँगलियाँ, दाँत और कान, चेहरा और बाल स्वच्छ रखें। जूते / चप्पल कीड़ों से बचाते हैं।
  5. मनुष्यों और पशुओं के मल-मूत्र को मक्खियों से दूर रखें — ये रोगाणु फैलाती हैं। शौचालय का इस्तेमाल करें और बाद में अपने हाथ धोएँ।
  6. अपना चेहरा ताज़ा और साफ रखें। थोड़े से साफ़ पानी और साबुन से सुबह-शाम अच्छी तरह धोएँ, और चिपचिपी आँखों के पास मक्खियाँ भिनकने पर भी।
  7. गंदे हाथों या प्यालों से साफ़, सुरक्षित पानी न छुएँ। इसे सुरक्षित और रोगाणु-मुक्त रखें।
  8. सूरज की रोशनी पानी को सुरक्षित बनाती है। इसे प्लास्टिक की बोतल में छान लें। 6 घंटे तक रखने के बाद यह पीने योग्य हो जाएगा।
  9. जब संभव हो, धोने के बाद तश्तरियों और बर्तनों को धूप में सुखाकर रोगाणु नष्ट करें।
  10. घर और पड़ोस को कचरे और गंदगी से मुक्त रखकर मक्खियों को मारें या कम करें। कचरे इकट्ठा करें और ले जाए जाने, जला दिए जाने या दफ़न किए जाने तक सुरक्षित रखें।

विशेषज्ञ स्वास्थ्य शिक्षकों और चिकित्सकीय विशेषज्ञों द्वारा इन स्वास्थ्य संदेशों की समीक्षा की गई है, और यह ORB स्वास्थ्य वेबसाइट पर उपलब्ध हैं: www.health-orb.org.

यहां उन गतिविधियों के बारे में कुछ सुझाव दिए गए हैं जो बच्चे कर सकते हैं इस विषय को अधिक समझने और अन्य लोगों में यह संदेश बाँटने के लिए।

जल और स्वच्छता: बच्चे क्या कर सकते हैं?

  • हमारी अपनी भाषा में, अपने स्वयं के शब्दों में, हमारे अपने ‘जल और स्वच्छता संदेश’ बनाएँ!
  • यह संदेश याद कर लें, ताकि हम उन्हें कभी भूलें नहीं!
  • अन्य बच्चों और हमारे परिवारों के साथ संदेश साझा करें।
  • हाथ धोने का तरीका सीखने में हमारी मदद के लिए एक गीत सीखें।
  • यह दिखाने के लिए कि स्वच्छ परिवार के गाँव में आने के बाद रोगाणु परिवार का क्या होता है, या रोगाणु कहाँ छिपना पसंद करते हैं, एक नाटक रचें और खेलें।
  • हमारे छोटे भाई-बहनों की मदद करें और सुनिश्चित करें कि वे अच्छी तरह हाथ धोना जानते हैं।
  • लोगों के एक समूह को एक घंटा ध्यान से देखें और दर्ज करें कि वे कितनी बार अपने चेहरे, कपड़े या अन्य लोगों को छूते हैं।
  • रोगाणु हाथ से शरीर में किन विभिन्न तरीकों से फैल सकते हैं, इस बारे में सोचें।
  • सब मिलकर स्कूल के शौचालय साफ़ रखने की योजना पर काम करें।
  • छन्नी से पानी साफ़ करना सीखें।
  • विद्यालय परिसर को साफ़-सुथरा और कचरा-मुक्त रखने की योजना बनाएँ।
  • स्कूल में एक स्वच्छता क्लब शुरू करें।
  • मक्खियों, गंदगी और रोगाणुओं के बारे में हमारी जानकारी अपने परिवार से साझा करें।
  • हमारे पानी के बर्तन को साफ़ और ढँका हुआ रखें और हमेशा गड़ुवा (स्कूप) इस्तेमाल करें, कभी अपना प्याला या हाथ नहीं। हमारे छोटे भाई-बहनों को बर्तन से पानी लेने का तरीका दिखाएँ।
  • सब मिलकर एक टप-टप नलका (टिपी टैप) बनाएँ!
  • शरीर धोते समय साबुन पकड़ने के लिए स्नान दस्ताना (वॉश मिट) कैसे बनाते हैं?
  • प्लास्टिक की बोतल और थोड़े से शक्कर-घुले पानी या मल से मक्खीदानी (फ़्लाई ट्रैप) बनाएँ!
  • घर में धूप द्वारा पीने का स्वच्छ पानी बनाने में मदद करें।
  • गंदा पानी साफ़ करने के लिए रेत की छन्नी (सैंड फ़िल्टर) बनाएँ।
  • हमारे मुहल्ले/गाँव/कस्बे/शहर में पानी की आपूर्ति का नक्शा बनाएँ और दिखाएँ कि पानी पीने योग्य है या नहीं।
  • खाना पकाने के बर्तनों और हमारी तश्तरियों को धूप में सुखाने के लिए एक टाँड़ (ड्राइंग रैक) बनाएँ।
  • पूछें: हम अपने हाथ कैसे स्वच्छ और रोगाणु-मुक्त रख सकते हैं? क्या हमारे घर में हाथ धोने के लिए साबुन है? स्थानीय दुकान में साबुन की क़ीमत कितनी है? अपना शरीर कैसे साफ़ रखें? अपने दाँत कैसे साफ़ करें? रोगाणु कहाँ से आते हैं, कहाँ रहते हैं और कैसे फैलते हैं? मक्खियाँ कैसे रहती, खाती और प्रजनन करती हैं? मक्खियाँ अपने पैरों में गंदगी कैसे ले जाती हैं? हमारे जल स्रोत क्या हैं? हम गंदे पानी को पीने योग्य कैसे बना सकते हैं? हमें प्लास्टिक की बोतलें कहाँ मिल सकती हैं? किस कपड़े से पानी छाना जा सकता है? खाना बनाते समय परिवार के सदस्य सफ़ाई पर कैसे अमल करते हैं? घर या पड़ोस में किस जगह सबसे अधिक रोगाणु हो सकते हैं?

मक्खीदानी (फ़्लाई ट्रैप) और धूप से कीटाणु-रहित पानी के बारे में, रेत की छन्नी (सैंड फ़िल्टर), स्नान दस्ताना (वॉश मिट) या टप-टप नलका (टिपी टैप) कैसे बनाते हैं, या अन्य किसी विषय पर विशिष्ट जानकारी के लिए कृपया www.childrenforhealth.org या clare@childrenforhealth.org से संपर्क करें।

हिन्दी Home